Follow Us

Comment Box
Register
Login
बेहतर जिओ !

पाठ्यक्रम

वर्तमान पाठ्यक्रम

बेसिक इंग्लिश कोर्स: अंग्रेज़ी के इस प्रारम्भिक पाठ्यक्रम से आप एकदम शुरू से यानी ABCD से अंग्रेज़ी सीख सकते हैं। इसमें अंग्रेज़ी वर्णमाला (English Alphabet), स्वर और व्यंजन (Vowels & Consonants), अंग्रेज़ी अक्षरों से उत्पन्न होने वाली ध्वनियाँ (English Letters and Their Sounds) से लगाकर भाषा के अंग (Parts of Speech) जैसे संज्ञा (Noun), सर्वनाम (Pronoun), क्रिया (Verb) आदि पर वीडियो प्रोग्राम्स हैं।
जिन्हें अंग्रेज़ी से डर लगता है या जिन्हें अंग्रेज़ी कठिन लगती है। उनके लिए यह कोर्स एक वरदान है। यह आपको सिखाएगा अंग्रेज़ी की बुनियादी बातें, जैसे पढ़ना, लिखना और यह समझना कि अक्षरों को जोड़कर शब्द कैसे बनाए जाते हैं। इस कोर्स से स्पोकन इंग्लिश यानी बोलचाल की अंग्रेज़ी की नींव डाली जा सकती है।


बिगिनर्स इंग्लिश ग्रामर कोर्स: अक्षरों को जोड़कर शब्द बनाना बेसिक इंग्लिश में सीखने के बाद हमें सीखना होता है कि अंग्रेज़ी में शब्दों को जोड़कर वाक्य कैसे बनाना। बिगिनर्स इंग्लिश ग्रामर कोर्स यही तो सिखाता है वो भी हिन्दी में। इस कोर्स में शामिल है वाक्य, वाक्यों के प्रकार, टेन्सेस (काल) वो भी एक्टिव व पेसिव वॉइस में। इनके अलावा शर्त वाले वाक्य यानी कंडीशनल सेंटेंसेस, फ्रेज़ेस (वाक्यांश), क्लॉज़ेज़ (उपवाक्य), (सिम्पल/कंपाउंड/काम्प्लेक्स) सेंटेंसेस, पंक्चुएशन मार्क्स (विराम चिन्ह) और केपिटल अक्षरों के नियम भी इसी कोर्स में एकदम आसान तरीके से समझाए गये हैं। सटीक उदाहरण और दिलचस्प एनीमेशन से इंग्लिश ग्रामर को सरल बना दिया है। ‘आओ सीखो’ के इस कोर्स ने। स्पोकन इंग्लिश के लिए ज़मीन तैयार करके यह कोर्स सीखने वालों में आत्मविश्वास भर देता है क्योंकि इस कोर्स के बाद वो छोटी-बड़ी भूलें करने से बच जाते हैं और सही अंग्रेज़ी सीख जाते हैं।


स्पोकन इंग्लिश कोर्स: स्पोकन इंग्लिश यानी बोलचाल की अंग्रेज़ी सीखने की इच्छा हर उम्र के करोड़ों लोगों की होती है, इसी को ध्यान में रखकर यह कोर्स एकदम आसान बनाया गया है। हिंदी माध्यम से अंग्रेज़ी बोलना सिखाने वाला यह कोर्स अलग-अलग स्थितियों में बोलने योग्य वकैबयूलरि यानी शब्द भंडार तो सिखाता ही है, साथ ही साथ आवश्यकतानुसार वाक्य बनाकर और उन्हें डायलॉग (संवाद) में रखकर सिचुएशनल इंग्लिश भी कवर करता है। जो लोग अंग्रेज़ी में लिख-पढ़ तो लेते हैं, लोगों द्वारा अंग्रेज़ी में बोली गई बातें समझ भी लेते हैं, मगर अंग्रेज़ी में बोल नहीं पाते उनके लिए यह कोर्स एक वरदान है। ग्रीटिंग्स यानी अभिवादन से शुरू होकर यह कोर्स परिचय लेना-देना, पता पूछना-बताना, प्रशंसा करना, प्रश्न पूछना, उत्तर देना जैसे अलग-अलग फंक्शन यानी काम भी सिखाता है और टेक्स्ट एक्सरसाइज़ेस और वीडियो एक्सरसाइज़ेस के माध्यम से रिवीज़न और प्रैक्टिस कराते हुए टेस्ट भी ले लेता है और विद्यार्थी जान जाते हैं कि उन्हें कितना ज्ञान हुआ, और कितनी चीजें रिपीट करनी है यानी दोहरानी हैं।
यहां सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि यह कोर्स यह मानकर चलता है कि विद्यार्थियों ने आओ सीखो के बेसिक इंग्लिश कोर्स और बिगिनर्स इंग्लिश ग्रामर कोर्स पहले से ही कर लिए हैं, क्योंकि बिना नींव के मकान नहीं बनाया जा सकता। उपयोग दोनों कोर्सेस अंग्रेज़ी की फाउंडेशन बनाते हैं अर्थात नीव का निर्माण करते हैं। हम सीखने वालों को एक नेक सलाह देंगे कि अगर उन्होंने बेसिक इंग्लिश और ग्रामर के कोर्सेस नहीं किये हैं, तो पहले उन्हें कर लें।


व्यक्तित्व विकास पाठ्यक्रम: व्यक्तित्व/शख्सियत/पर्सनालिटी जब अच्छे से विकसित होती है तो सफलता का रास्ता खुल जाता है। इंसान शक्तियों और कमज़ोरियों का सम्मिश्रण है और आओ सीखो का व्यक्तित्व विकास कोर्स सिखाता है कैसे शक्तियों को बढ़ाना और कमज़ोरियों को कम करना। यह कोर्स व्यवस्थित रुप में समझाता है कि व्यक्तित्व क्या होता है और उसे विकसित करके बेहतर ज़िंदगी कैसे जी जा सकती है। शिकायत करने या रोने-रींकने के बजाय कैसे शक्तिशाली बनना और समस्याओं के समाधान खोजना भी यह कोर्स सिखाता है। स्वीकार यानी सकारात्मकता के साथ सब सद्गुणों की प्रशंसा करते हुए खुद को बदलने का रास्ता चुनना और निरन्तर उत्कर्ष यानी ऊँचाइयों को छूना भी इस कोर्स का हिस्सा है। समय की कसौटी पर कस-परख कर देखी हुई तकनीकों से व्यक्तित्व में निखार लाने के अलावा इस कोर्स में आप जानेंगे प्रदान करना, बड़े दिल वाला बनना, अच्छा व्यवहार करना तथा नकारात्मक चीज़ों को भूलना और औरों को माफ़ करके आगे बढ़ना आदि सद्गुण। काम को कब करना, कब सौंपना, कब बांटना और कब काम के लिये विनम्रता से मना करने का निर्णय लेना भी इस कोर्स में बताया गया है। दरअसल यह व्यक्तित्व विकास की वर्णमाला है जो A to Z आपको गुण और शक्तियों को बढ़ाने की विधि बताती है। हिन्दी भाषा में व्यक्तित्व विकास का ऐसा कोर्स अपने आप में अनूठा है और आपको भी अनूठा बनाने की ताक़त रखता है।


MS Word 2016: माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस का एक अत्यंत उपयोगी टूल (साधन) है MS Word । स्कूल के प्रोजेक्ट से लेकर ऑफिस की रिपोर्ट टाइप करके तैयार करने तक और पत्र से लेकर पुस्तक लिखने तक हर प्रकार के लिखित सम्प्रेषण (रिटन कम्युनिकेशन) का काम MS Word की सहायता से अच्छे से किया जा सकता है। इस लिखे हुए शब्द-संसार को MS Office 2016 की सहायता से फोटो/चित्र/चार्ट/ग्राफ डालकर आप सजा सकते हैं और अधिक उपयोगी बना सकते हैं। अपने द्वारा लिखी चीज़ों को ऑनलाइन 'सेव' कर सकते हैं और चाहे जिसके साथ 'शेयर' (साझा) कर सकते हैं, बाँट सकते हैं। MS Office 2016 वाला वर्ज़न सबसे अधिक नया और अतिरिक्त फायदों वाला है, सुविधाओं से भरपूर है। इसे सीखकर और इस्तेमाल करके आप आधुनिक ज़माने के साथ कदम मिलाकर चलने लायक बनते हैं। आओ सीखो ने यह सब सिखाया है सरल हिन्दी में ताकि अंग्रेज़ी का कम ज्ञान होने से आप अटकें नहीं और परेशान न हो।


MS Excel 2016: माइक्रोसॉफ्ट एक्सेल 2016 एक स्प्रेडशीट है जो व्यवस्थित रुप में आंकड़ो को एक साथ रखके उनके जोड़-घटाव जैसे गणनाएं यानी कैलक्युलेशन्स करने यानी खुद ही छांटने (sorting), गिनने (counting), जोड़ने (totaling) जैसे काम फटाफट कर देता है। सरलता के लिये सारे आंकड़े कतारों (rows) और स्तंभों (columns) में रखे जाते हैं ताकि हम उन्हें एक साथ देख सकें और तुलना करके समझ सकें और निष्कर्ष (conclusions) निकाल सकें। कुल मिलाकर एम.एस. ऑफिस की मदद से भारी-भरकम हिसाब-किताब चाहे घर के हो या ऑफिस के एकदम सरल तरीके से और तेजी से हो जाते हैं – घंटों का काम मिनटों में, वो भी बगैर ग़लती के। यह एक स्मार्ट केलक्युलेटर है जो आपकी आवश्यकता समझकर काम करता है और ज़िन्दगी आसान बनाता है। आओ सीखो का MS Excel का कोर्स एकदम शुरु से हिन्दी में आपको सिखाता है कि कैसे इसका उपयोग हर इंसान कर सकता है।


MS PowerPoint 2016: किसी भी इंसान की पहचान उसके प्रेज़ेंटेशन यानी प्रस्तुतीकरण से ही तो होती है। उसकी काबिलियत को दुनिया उसके सामने आने के अंदाज़ से ही तो पहचानती है, और यह सब आसान बनाता है MS PowerPoint (एम एस पॉवरपॉइंट)। स्कूल या कॉलेज के प्रेज़ेंटेशन से लगाकर ऑफिस और बिज़नेस में काम आनेवाले प्रोफ़ेशनल प्रेज़ेंटेशन तक सब कुछ मुमकिन ही नहीं आसान है माइक्रोसॉफ्ट पॉवरपॉइंट की मदद से। आज के ज़माने में लोग अपनी बात audiovisual aids जैसे प्रोजेक्टर और सॉउन्डसिस्टम्स के बगैर शायद ही कहीं करते हों, ऐसे में हर तरक्कीपसंद इंसान को वक़्त के साथ ही चलना चाहिए और MS PowerPoint (एम एस पॉवरपॉइंट) आपके लिए यह संभव कर देता है।
MS Powerpoint 2016 (एम एस पॉवरपॉइंट 2016) एकदम लेटेस्ट वर्ज़न होने से इसकी मदद से आप अपने प्रेज़ेंटेशन में वीडियोज़ जोड़ सकते हैं, और OneDrive जैसी फाइल होस्टिंग सर्विस का इस्तेमाल कर अपना प्रेज़ेंटेशन अपने दोस्तों के साथ साझा भी कर सकते हैं, और चाहें तो उनके साथ मिलकर दुनिया के किसी भी हिस्से से काम भी कर सकते हैं। चूंकि हमारे कई विद्यार्थियों को अंग्रेज़ी में दिक्कत आती है इसलिए आओ सीखो संस्थान ने माइक्रोसॉफ्ट पॉवरपॉइंट 2016 सिखाने के वीडियोज़ हिंदी में उपलब्ध करा दिए हैं ।


भविष्य में आने वाले पाठ्यक्रम

1. चित्रकला (Painting)
2. पाककला (Cooking)
3. कागज़ के खिलौने आदि बनाना (Paper Craft etc.)



  • Read in English
  • The Courses at Present

    Basic English Course: In this fundamental or elementary course of English you may learn English from the scratch i.e. right from ABCD. It covers English Alphabet, Vowels and Consonants, English Letters and Their Sounds , Parts of Speech like Nouns, Pronouns, Verbs etc. There are various small but effective video programs on the topics given above and the like.
    This course is a boon for the people who are afraid of English or those who find it too tough to learn. It will teach you basic things like how to read, write and understand as to how words are formed by joining letters. Through this course the foundation of Spoken English can be laid.


    Beginners’ English Grammar Course: After having learnt in Basic English Course how to form words by joining letters, we need to learn how to form sentences by joining words. Beginners’ English Grammar Course teaches just that through Hindi medium. Sentences, Types of Sentences, Tenses (both in Active and Passive Voices) are included in this course. Besides Conditional Sentences, Phrases, Clauses, (Simple/Compound/Complex) Sentences, Punctuation Marks, and Rules of Capitalization have also been taught in this course in an easy manner. This course of Aao Seekho has made English Grammar easy by citing apt examples and using interesting animations. This course instills confidence in learners by preparing the ground for Spoken English as this course teaches how to avoid small and big mistakes and how to use correct English.


    Personality Development Course: When your personality develops, the door to success opens. A human being is a combination of strengths and weaknesses and Aao Seekho’s Personality Development Course teaches you how to enhance your strengths and minimize your weaknesses. This course systematically teaches as to what personality really is and how to live your life in a better way after having developed your personality. Rather than complaining, crying and lamenting over things how to find solutions to your problems and being strong have also been taught in the course. A part of this course is how to accept others, appreciate virtues and embrace optimism, how to choose the path of changing oneself and touch the new heights of excellence. Besides learning certain time-tested-techniques of personality development you would learn in this course how to give, how to be big and behave well. Virtues like forgetting negative things, forgiving others and proceeding forward also form the contents of this course. When to do things, when to delegate, when to distribute and when to deny with decency; such a decision making has also been explained in the course. Truly this is alphabet of P.D. that states the A to Z methods of enhancing your strengths and virtues. Such a Personality Development Course that too in Hindi medium is unique in itself and it has potential of making you an outstanding person.


    Forthcoming Courses

    1. Drawing and Painting
    2. Cooking
    3. Paper Craft etc.